Sunday, 2 December 2012

pyaar bhara geet.

एक प्यार भरा गीत सुनते हुए तेरा ख्याल इस  दिल को जब  आया ,
निकल पड़ा ये कमबख्त भी अल्फाजों की एक हँसी तलाश पर ,
खूब भटका इधर -उधर , मगर न ढूंढ़ पाया वो कुछ चंद लफ्ज़ ,
जो दिल में तेरे इस कदर उतर जाए,
के तेरे नैनो से बरसे सिर्फ मुहब्बत का सुरूर ,
तेरे खामोश ओंठ बस गायें प्यार का वो एक नया नगमा,
जिसकी धुन पे थिरके , ये सारी मुहब्बत की दुनिया ,
जिसको सुनके बिछड़े हुए हरएक  दिल को,
 अपना कोई प्यारा सा साथी याद आ जाए

एक प्यार भरा गीत सुनते हुए तेरा ख्याल इस  दिल को जब  आया ,
उसमें बसे तेरे हसीं चेहरे को ही बस पाया ,
मगर फिर भी ना ढूंढ़ पायी वो चंद लफ्ज़ ,
जो दिल में तेरे इस कदर उतर जाएं ,
के तू ये दास्ताँ-ए -मुहब्बत समझ पाए

inspired by the song : "saanu tere naal ho gaya pyaar meri gal sun le soniye.."





11 comments:

  1. Thank you very much Green Speck. :)

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर अभिव्यक्ति

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thank you very much Rahul sir! :-)

      Delete
  3. loved the last para..
    lovely work puji..
    bohot khoob lagi aapki - daastaa-ein-mohobbat :)

    ReplyDelete
  4. मनमोहक ब्लॉग - बहुत सुंदर

    ReplyDelete

  5. बहुत खूब,,,
    सुन्दर रचना ...

    ReplyDelete